दूसरों को खास करने की चाह में;
अक्सर खुद को आम कर देता हूँ!
Picture SMS 96114
बुरे वक्त में भी एक अच्छाई होती है;
जैसे ही ये आता है फालतू के दोस्त विदा हो जाते हैं!
Picture SMS 96025
आ देख मेरी आँखों के ये भीगे हुए मौसम;
ये किसने कह दिया कि तुम्हें भूल गए हम!
Picture SMS 96024
कुछ अपना अंदाज हैं कुछ मौसम रंगीन हैं,
तारीफ करूँ या चुप रहूँ, जुर्म दोनो ही संगीन हैं!
Picture SMS 95988
बहुत मुश्किल से करता हूँ तेरी यादों का कारोबार;
मुनाफा कम है, पर गुज़ारा हो ही जाता है!
Picture SMS 95987
लोग अकसर अपनी खूबियों का दिखावा करते हैं;
मैं ख़ुद की कमियों से मशहूर होना पसंद करता हूँ!
Picture SMS 95964
उसने कहा तुम्हें कौन सा तोहफा दूँ;
मैंने कहा वो शाम जो अभी तक उधार है!
Picture SMS 95963
झुकी झुकी नजर तेरी कमाल कर जाती है;
उठती है एक बार तो सवाल कर जाती है!
Picture SMS 95947
राह-ए-ज़िन्दगी में यह कहानी सभी की है;
हमराज़ कोई और है, हमसफ़र कोई और है!
Picture SMS 95946
कुछ तो चाहत होगी इन बारिश की बूंदों की;
वरना कौन गिरता है इस ज़मीन पे आसमान तक पहुँचने के बाद!
Picture SMS 95935
Analytics