मैं बद-नसीब हूँ मुझ को न दे ख़ुशी इतनी;
कि मैं ख़ुशी को भी ले कर ख़राब कर दूँगा!
~ Abdul Hameed Adam
Picture SMS 95205
मेरी चाहत ने उसे खुशी दे दी,
बदले में उसने मुझे सिर्फ खामोशी दे दी;
खुदा से दुआ मांगी मरने की,
लेकिन उसने भी तड़पने के लिए ज़िन्दगी दे दी।
Picture SMS 95204
दर्द आँखों से निकला तो सबने बोला कायर है ये,
जब दर्द लफ़्ज़ों से निकला तो सब बोले शायर है ये!
Picture SMS 95203
ग़म है न अब ख़ुशी है न उम्मीद है न आस;
सब से नजात पाए ज़माने गुज़र गए!
~ Khumar Barabankvi
Picture SMS 95185
सच को तमीज़ ही नहीं बात करने की;
झूठ को देखो, कितना मीठा बोलता है।
Picture SMS 95184
इन्हीं ग़म की घटाओं से ख़ुशी का चाँद निकलेगा;
अँधेरी रात के पर्दे में दिन की रौशनी भी है!
~ Akhtar Sheerani
Picture SMS 95164
मेरी मोहब्बत की ना सही, मेरे सलीक़े की तो दाद दे;
तेरा ज़िक्र रोज़ करते हैं, तेरा नाम लिये बग़ैर!
Picture SMS 95163
ये ज़िंदगी भी अजब कारोबार है कि मुझे;
ख़ुशी है पाने की कोई न रंज खोने का!
~ Javed Akhtar
Picture SMS 95150
आत्मा तो हमेशा से जानती है कि सही क्या है;
चुनौती तो मन को समझाने की होती है!
Picture SMS 95149
तू भी ख्वा-म-खाह बढ़ रही हैं ऐ धूप;
इस शहर में पिघलने वाले दिल ही नहीं रहे!
Picture SMS 95134
Analytics