इक टूटी-सी ज़िंदगी को समेटने की चाहत थी;
न खबर थी उन टुकड़ों को ही बिखेर बैठेंगे हम।
Picture SMS 99080
फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की;
जैसे ये ज़िंदगी, ज़िंदगी नहीं, कोई इल्जाम है।
Picture SMS 99079
तेरे गमों को तेरी ख़ुशी कर दें,
हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी भर दें;
जब भी टूटने लगें तेरी साँसे,
खुदा तुझमें शामिल मेरी जिंदगी कर दे।
Picture SMS 99044
तेरा ख़याल तेरी तलब और तेरी आरज़ू;
इक भीड़ सी लगी है मेरे दिल के शहर में।
Picture SMS 99043
तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी,
तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी;
क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर,
जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी।
Picture SMS 99028
घरों पे नाम थे नामों के साथ ओहदे थे;
बहुत तलाश किया कोई आदमी न मिला!
~ Bashir Badr
Picture SMS 99027
अल्फाज तय करते हैं फैसले किरदारों के;
उतरना दिल में है या दिल से उतरना है।
Picture SMS 98977
खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो;
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।
Picture SMS 98976
कुछ भी बचा न कहने को हर बात हो गयी;
आओ कहीं शराब पिएँ रात हो गयी।
Picture SMS 98939
अपनी मोहब्बत पे फक़त इतना भरोसा है मुझे;
मेरी वफायें तुझे किसी और का होने न देंगी।
Picture SMS 98938
Analytics