जो लोग परमात्मा तक पहुंचना चाहते हैं उन्हें वाणी मन इन्द्रियों की पवित्रता और एक दयालु ह्रदय की आवश्यकता होती है!
~ Swami Vivekananda
Picture SMS 96023
भगवान के चेहरे पर एक मुस्कुराहट है!
~ Psalm 42:5
Picture SMS 95494
आपकी दया मेरी सामाजिक स्थिति है!
~ Guru Nanak Dev Ji
Picture SMS 95182
सबसे उत्तम तीर्थ अपना मन है जो विशेष रूप से शुद्ध किया हुआ हो!
~ Swami Shankaracharya
यदि भगवान छुआछूत को मानता है तो मैं उसे भगवान नहीं कहूँगा।
~ Bal Gangadhar Tilak
Picture SMS 92001
गणित मेरा जुनून है इंजीनियरिंग मेरा पेशा है!
~ Wilfred James Dolor
Picture SMS 91650
मनुष्य की सुरक्षा उसकी धार्मिक वृत्ति ही करती है|
~ Acharya Tulsidas
Picture SMS 91559
मैं सबसे महान हूँ, मैंने ये तब कहा जब मुझे पता भी नहीं था कि मैं हूँ।
~ Muhammad Ali
Picture SMS 85868
मैं हर एक वस्तु में हूँ और उससे परे भी, मैं सभी रिक्त स्थान को भरता हूँ|
~ Sai Baba
Picture SMS 85472
मैं निराकार हूँ और सर्वत्र हूँ|
~ Sai Baba
Picture SMS 85405
Analytics