बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने;
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है!
~ Nida Fazli
Picture SMS 86862
वो इत्र-दान सा लहजा मेरे बुज़ुर्गों का;
रची-बसी हुई उर्दू ज़बान की ख़ुश्बू!
~ Bashir Badr
Picture SMS 86785
इबादतखानो में क्या ढूंढते हो मुझे;
मैं वहाँ भी हूँ, जहाँ तुम गुनाह करते हो!
Picture SMS 86331
ईमां गलत, उसूल गलत, इद्देआ गलत;
इन्सां की दिलदेही अगर इन्सां न कर सके!

ईमां = धर्म, मजहब
इद्देआ = इच्छा, चाह
दिलदेही = दिलासा, सांत्वना, ढाढस
Picture SMS 85527
हम भी दरिया हैं हमें, अपना हुनर मालूम है;
जिस तरफ भी चल पड़ेंगे रास्ता हो जायेगा।
~ Bashir Badr
Picture SMS 85080
शरीर के लड़खड़ाने पे तो सबकी है नज़र;
सिर पर है कितना बोझ, कोई देखता नहीं।
Picture SMS 84766
दिल दिया जिस ने किसी को वो हुआ साहेब-ए-दिल;
हाथ आ जाती है खो देने से दौलत दिल की!
~ Aasi Ghazipuri
Picture SMS 84621
ये जो तुम ने खुद को बदला है;
ये बदला है, या बदला है।
Picture SMS 84502
खींचो न कमानों को न तलवार निकालो;
जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो।
~ Akbar Allahabadi
Picture SMS 84371
हर नजर में मुमकिन नहीं है बेगुनाह रहना;
वादा ये करें कि खुद की नजर में बेदाग रहें।
Picture SMS 84033
Analytics