वही ज़मीन है वही आसमान वही हम तुम;
सवाल यह है ज़माना बदल गया कैसे!
Picture SMS 88501
वो शायद मतलब से मिलते है;
मुझे तो मिलने से मतलब है!
Picture SMS 88312
रिश्ते बनाना इतना आसान जैसे,
'मिट्टी' पर 'मिट्टी' से "मिट्टी" लिखना;
लेकिन रिश्ते निभाना उतना ही मुश्किल जैसे,
'पानी' पर 'पानी' से "पानी" लिखना!
Picture SMS 88256
तुम्हें सिर्फ ठेला दिखता है सड़क पर साहब,
हक़ीक़त में वो अपना पूरा घर खींचता है!
Picture SMS 88230
तमाम लोगों को अपनी अपनी मंजिल मिल चुकी,
कमबख्त हमारा दिल है, कि अब भी सफर में है।
Picture SMS 87939
बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने;
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है!
~ Nida Fazli
Picture SMS 86862
वो इत्र-दान सा लहजा मेरे बुज़ुर्गों का;
रची-बसी हुई उर्दू ज़बान की ख़ुश्बू!
~ Bashir Badr
Picture SMS 86785
इबादतखानो में क्या ढूंढते हो मुझे;
मैं वहाँ भी हूँ, जहाँ तुम गुनाह करते हो!
Picture SMS 86331
ईमां गलत, उसूल गलत, इद्देआ गलत;
इन्सां की दिलदेही अगर इन्सां न कर सके!

ईमां = धर्म, मजहब
इद्देआ = इच्छा, चाह
दिलदेही = दिलासा, सांत्वना, ढाढस
Picture SMS 85527
हम भी दरिया हैं हमें, अपना हुनर मालूम है;
जिस तरफ भी चल पड़ेंगे रास्ता हो जायेगा।
~ Bashir Badr
Picture SMS 85080
Analytics