ज़िम्मेदारियां भी एक इम्तेहान होती है;
जो निभाता है न उसी को परेशान करती हैं!
Picture SMS 102532
सही वक्त पर करवा देंगे हदों का एहसास;
कुछ तालाब खुद को समुद्र समझ बैठे हैं!
Picture SMS 102475
एक ऐसा समाज बनायें जहाँ लड़कियों को सुरक्षित महसूस करने के लिए अपने भाईयों की ज़रुरत न हो;
एक रिव्यात के तौर पे राखी बाँधने के लिए मर्द की कलाइयों की ज़रूरत न हो!
~ Ayushmann Khurrana
Picture SMS 102453
किसी की गलतियों को बेनक़ाब ना कर;
'ईश्वर' बैठा है, तू हिसाब ना कर!
Picture SMS 102451
अंधेरा इतना है कि शहर के मुहाफिज़ को,
हर एक रात कोई घर जलाना पड़ता है!
~ Azeez Ahmad Khan Shafaq
Picture SMS 102414
जुबां तीखी हो तो खंजर से गहरा ज़ख्म देती है,
और मीठी हो तो वैसे ही कत्ल कर देती है!
Picture SMS 102393
खुदी को कर बुलन्द इतना कि हर तक़दीर से पहले;
ख़ुदा बन्दे से खुद पूछे, बता तेरी रज़ा क्या है!
~ Allama Iqbal
Picture SMS 102297
सीढ़ियाँ उनके लिए बनी हैं जिन्हें छत पर जाना है;
लेकिन जिनकी नज़र आसमान पर हो उन्हें तो रास्ता ख़ुद बनाना है!
Picture SMS 102239
थी ख़बर गर्म कि 'ग़ालिब' के उड़ेंगे पुर्ज़े;
देखने हम भी गए थे पर तमाशा न हुआ!
Picture SMS 102215
चंद सिक्कों में बिकता है इंसान का ज़मीर यहां;
कौंन कहता है मेरे मुल्क में महंगाई बहुत है!
Picture SMS 102199
Analytics