रावण मरा राम के वनवास से!
कंस मरा कृष्ण के कारावास से!
कोरोना मरेगा हम सबके गृहवास से!
Picture SMS 99211
माटी का संसार है, खेल सके तो खेल;
बाज़ी उस रब के हाथ है, पूरा विज्ञान फेल!
Picture SMS 99147
कुदरत का अजब खेल तो देखिये;
हवा शुद्ध है और चेहरे ढके हुए!
Picture SMS 99081
तीन रिश्ते वक्त आने पर पहचाने जाते हैं!
औलाद बुढापे में
दोस्त मुसीबत में
पत्नी लॉकडाउन में!
Picture SMS 98949
पूरी ज़िन्दगी कमा कर यदि हम 20 दिन का जुगाड़ नहीं कर पाए तो 20 दिन कमा कर क्या लेंगे?
सरकार का सहयोग करें, घर रहें, सुरक्षित रहें!
Picture SMS 98944
कोरोना की वजह से कुछ शब्द इस ब्रह्माण्ड से ही गायब हो गए जैसे:
कहाँ हो?
घर कब आओगे?
Picture SMS 98919
ना इलाज है ना दवाई है;
ऐ इश्क़ तेरे टक्कर की बला आयी है!
Picture SMS 98913
न दिन पता चल रहा है, न रात
न रविवार, न सोमवार, न मार्च, न अप्रैल!
इन सब से अब मैं ऊपर उठ गया हूँ!
हे प्रभु, क्या मुझे मोक्ष प्राप्त हो गया है?
Picture SMS 98865
कुछ सिखाकर ये दौर भी गुजर जायेगा;
फिर एक बार हर इंसान मुस्कुराएगा!
मायूस न होना मेरे दोस्तों इस बुरे वक़्त से;
कल, आज है... और आज, कल हो जाएगा।
Picture SMS 98835
समय-समय की बात है,
कभी घर पर पड़े रहने वाले को 'निकम्मा' कहा जाता था और आज 'समझदार'!
Picture SMS 98805
Analytics