पलक से पानी गिरा है तो उसको गिरने दो;
कोई पुरानी तमन्ना पिघल रही है पिघलने दो!
Picture SMS 80218
वो क्या समझेगा मेरी आँखों का बरसना;
जो बादल के बरसने पर बहुत खुश होता है!
मोहब्बत का अश्कों से, कुछ तो रिश्ता जरूर है;
तमाम उम्र न रोने वाले की भी, इश्क़ में आँख भीग गई!
Picture SMS 78395
बहुत अंदर तक तबाही मचाता है वो आँसू;
जो पलकों से बाहर नहीं आ पाता।!
साहिल पे बैठे यूँ सोचते हैं आज, कौन ज्यादा मजबूर है;
ये किनारा जो चल नहीं सकता, या वो लहर जो ठहर नहीं सकती!
काश तू सुन पाता खामोश सिसकियां मेरी,
आवाज़ करके रोना तो मुझे आज भी नहीं आता।
तेरी ज़ुबान ने कुछ कहा तो नहीं था,
फिर ना जाने क्यों मेरी आँख नम हो गयी।
Picture SMS 76399
काश आँसुओ के साथ यादें भी बह जाती,
तो एक दिन तसल्ली से बैठ कर रो लेते।
Picture SMS 76355
वो तो बारिश कि बूँदें देखकर खुश होते हैं,
उन्हें क्या मालूम कि हर गिरने वाला कतरा पानी नही होता।
Picture SMS 75002
तेरी जरूरत, तेरा इंतजार और ये तन्हा आलम;
थक कर मुस्कुरा देते हैं, हम जब रो नहीं पाते।
Analytics