दो आँखों में दो ही आँसू,
एक तेरे लिए एक तेरी खातिर!
Picture SMS 99872
जब लफ्ज़ थक गए तो फिर आँखों ने बात की;
जो आँखें भी थक गयीं तो अश्कों से बात हुई।
Picture SMS 98911
इस दुनिया में कोई खुशियों की चाह में रोता है, कोई गमो की पनाह में रोता है;
अजीब ज़िन्दगी का सिलसिला है, कोई भरोसे के लिए रोता है, कोई भरोसा करके रोता है।
Picture SMS 98758
आँसू तेरे निकले पर आँखें मेरी हों, दिल तेरे धड़के पर धड़कन मेरी हो;
हम दोनों का प्यार इतना गहरा हो, कि साँसें तेरी रुकें, पर मौत मेरी हो!
Picture SMS 98629
आँखों में उमड़ आता है बादल बन कर;
दर्द एहसास को बंजर नहीं रहने देता!
Picture SMS 98336
आसान कहाँ था उसका दिया आखिरी ख़त पढ़ना मेरे लिए;
आंसुओं के दाग बता रहे हैं लिखते वक़्त रोयी बहुत थी वो।
Picture SMS 98301
दर्द आँखों से निकला तो सबने बोला कायर है ये,
जब दर्द लफ़्ज़ों से निकला तो सब बोले शायर है ये!
Picture SMS 95203
राह तकते जब थक गई मेरी आँखें;
फिर तुझे ढूंढने मेरी आँखों से आँसू निकले!
Picture SMS 94937
मेरे पलकों मे भरे आँसू उन्हें पानी सा लगता है;
हमारा टूट कर चाहना उन्हे नादानी सा लगता है!
Picture SMS 94637
गिरते हुऐ अश्क की कीमत न पूछना;
इश्क़ के हर बूंद में लाखों सवाल होते हैं!
Picture SMS 93606
Analytics