फुर्सत मिली तो तुझ पर भी एक कलाम लिखेंगे,
कभी आना मेरे शहर एक शाम तुम्हारे नाम लिखेंगे!
Picture SMS 91113
हर रिश्ते में अमृत बरसेगा, शर्त इतनी है कि;
शरारतें करो पर, साजिशे नहीं!
Picture SMS 90814
वो आ के पहलू में ऐसे बैठे,
के शाम रंगीन हो गयी है,
ज़रा-ज़रा-सी खिली तबीयत,
ज़रा-सी ग़मगीन हो गयी है!
Picture SMS 90767
लफ़्ज़ों के भी ज़ायक़े होते हैं,
परोसने से पहले चख भी लेना चाहिए!
Picture SMS 90694
दिल का दर्द छुपाना कितना मुश्किल है,
ग़म में मुस्कुराना कितना मुश्किल है,
दूर तक जब चलो किसी के साथ,
फिर तन्हा लौट के आना कितना मुश्किल है।
Picture SMS 90652
साहेब अब ये ना पूछना की अल्फाज कहा से लाता हूँ;
कुछ चुराता हूँ दर्द दूसरों के, कुछ अपनी सुनाता हूँ!
Picture SMS 90613
शौक-ए-आज़माइश भी एक रोग है;
लग जाए तो रिश्तों को किश्तों से गुजरना पड़ता है!
Picture SMS 90486
मैं तो इस वास्ते चुप हूँ की तमाशा ना बने,
और तू समझता है मुझे तुझसे कोई गिला नहीं!
Picture SMS 90303
छुपकर मेरी नज़र से गुज़र जाईये मगर;
बचकर मेरे ख्याल से किधर जाईयेगा!
Picture SMS 90280
ऐसा ना हो तुझको भी दीवाना बना डाले,
तन्हाई में खुद अपनी तस्वीर न देखा कर।
Picture SMS 90023
Analytics