बंजर नहीं हूं मैं मुझमें बहुत सी नमी है,
दर्द बयां नही करता, बस इतनी सी कमी है!
Picture SMS 90024
संभल कर चल नादान, ये इंसानों की बस्ती हैं;
ये रब को भी आजमा लेते हैंफिर तेरी क्या हस्ती हैं!
Picture SMS 89828
उसने मुझसे ना जाने क्यों ये दूरी कर ली,
बिछड़ के उसने मोहब्बत ही अधूरी कर दी,
मेरे मुकद्दर में दर्द आया तो क्या हुआ,
खुदा ने उसकी ख्वाहिश तो पूरी कर दी।
Picture SMS 89729
यारों कुछ तो जिक्र करो, उनकी क़यामत बाहों का,
जो सिमटते होंगें उनमे, वो तो मर जाते होंगे!
Picture SMS 89635
मत पुछो कि मेरा कारोबार क्या है,
मुस्कुराहट की छोटीसी दुकान है, नफरत के बाजार मे!
Picture SMS 89594
जिसकी आँखों में कटी थी सदियाँ,
उसने सदियों की जुदाई दी है।
Picture SMS 89572
दुनिया में हूँ दुनिया का तलबगार नहीं हूँ;
बाज़ार से ग़ुज़रा हूँ ख़रीदार नहीं हूँ!
~ Akbar Allahabadi
Picture SMS 89524
तुझ पे उठ्ठी हैं वो खोई हुयी साहिर आँखें;
तुझ को मालूम है क्यों उम्र गवाँ दी हमने!
~ Faiz Ahmad Faiz
Picture SMS 89510
जिस दिल को सौंपा था मोड़ भी आया उसे;
वो चाहता था छोड़ना मैं छोड़ भी आया उसे;
अब के ताल्लुक ना रखेगा वो कोई मुझसे;
मैं दोनों हाथों को अब जोड़ भी आया उसे!
Picture SMS 89422
हिज्र के साहिल पे था जो इश्क का आशियाना;
ग़म की बरसात में नदीम इक रोज़ ढह गया!
Picture SMS 89340
Analytics