क़त्ल तो लाजिम है इस बेवफा शहर में;
जिसे देखो दिल में नफरत लिये फिरता है।
Picture SMS 99145
इक टूटी-सी ज़िंदगी को समेटने की चाहत थी;
न खबर थी उन टुकड़ों को ही बिखेर बैठेंगे हम।
Picture SMS 99080
खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो;
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।
Picture SMS 98976
सुना है उस को मोहब्बत दुआएँ देती हैं;
जो दिल पे चोट तो खाए मगर गिला न करे।
Picture SMS 98791
पांवोंं के लड़खड़ाने पे तो सबकी है नज़र;
सर पे कितना बोझ है कोई देखता नहीं।
Picture SMS 98789
भीड़ में भी तन्हा रहना मुझको सिखा दिया,
तेरी मोहब्बत ने दुनिया को झूठा कहना सिखा दिया;
किसी दर्द या ख़ुशी का एहसास नहीं है अब तो,
सब कुछ ज़िन्दगी ने चुप-चाप सहना सिखा दिया।
Picture SMS 98755
क्यों बयान करूँ अपने दर्द को?
यहाँ सुनने वाले बहुत हैं, पर समझने वाला कोई नहीं!
Picture SMS 98588
हारा हुआ सा लगता है वजूद मेरा;
हर एक ने लूटा है दिल का वास्ता देकर!
Picture SMS 98513
खुदा जाने कौन सा गुनाह कर बैठे हैं हम,
कि तमन्नाओं वाली उम्र में तजुर्बे मिल रहे हैं!
Picture SMS 98512
धड़कन बनके जो दिल में समा गए हैं, हर एक पल उनकी याद में बिताते हैं;
आँसू निकल आये जब वो याद आ गए, जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते हैं।
Picture SMS 98432
Analytics