उम्र भर मिलने नहीं देती हैं अब तो रंजिशें;
वक़्त हम से रूठ जाने की अदा तक ले गया!
Picture SMS 90725
किसको बर्दाश्त है "साहब" तरक़्क़ी आजकल दूसरों की;
लोग तो अर्थी की भीड़ देखकर भी जल जाते है!
Picture SMS 90653
अपनी यादों को मिटाना बहुत कठिन है,
अपने गम को भूल जाना बहुत कठिन है।
जब राहे-मयखानों पर चलते हैं कदम,
होश में लौट कर आना बहुत कठिन है।
Picture SMS 90511
मैं तो इस वास्ते चुप हूँ की तमाशा ना बने,
और तू समझता है मुझे तुझसे कोई गिला नहीं!
Picture SMS 90436
शिकवे आँखों से गिर पड़े वरना;
होठों से शिकायत कब की हमने !
Picture SMS 90304
समझ में नही आता की किस पर भरोसा करूँ;
यहाँ तो लोग नफरत भी मोहब्बत की तरह ही करते है!
Picture SMS 90229
उँगलियाँ मेरी वफ़ा पर न उठाना लोगो,
जिसको शक हो वो मुझसे निबाह कर देखे।
Picture SMS 90166
देख कर मेरी आँखें, एक फकीर कहने लगा;
पलकें तुम्हारी नाज़ुक है खवाबों का वज़न कम कीजिये!
Picture SMS 90069
मैंने हवा के शौक में खोली थी खिड़कियां,
पर तेरी यादों का धुआँ मेरे घर में आ गया!
Picture SMS 89974
बचपन में सोचता था चाँद को छू लूँ,
आपको देखा वो ख्वाहिश जाती रही।
Picture SMS 89895
Analytics