अक्सर यूँ ही एक सवाल आता है उमड़ कर जेहन में मेरे;
आज बे वजह क्यों भूल गये कल तक बेवजह चाहने वाले!
Picture SMS 95514
आईना कब किसको सच बता पाया है;
जब देखा बांया, तो दांया ही नजर आया है!
Picture SMS 95513
चलो चलते हैं उस जहान में जहाँ रिश्तों का नाम नहीं पूछा जाता;
धडकनों पर कोई बंदिश नहीं ख्वाबों पर कोई इलज़ाम नहीं दिया जाता!
Picture SMS 95496
हम ने ‎मोहब्बत‬ के नशे ‎में‬ आ कर उसे‬ खुदा बना डाला;
होश तब आया‬ जब उस ने कहा‬, कि ‎खुदा‬ किसी ‪‎एक‬ का नहीं‬ होता!
Picture SMS 95458
बेचैन बहुत हूँ मगर पैगाम किसको दूँ;
जो खुद ना समझ पाया वो इल्ज़ाम किसको दूँ।
Picture SMS 95340
जब से उसने कहा है कौन हूँ मैं,
तब से मैं कौन हूँ पता ही नहीं!
Picture SMS 95298
फिर वही बात कर गया लम्हा,
आँख झपकी गुज़र और गया लम्हा!
Picture SMS 95280
शिकवा करने गये थे और इबादत सी हो गई,
तुझे भुलाने की ज़िद्द थी, मगर तेरी आदत सी हो गई!
Picture SMS 95261
होगी कितनी चाहत उस दिल में,
जो खुद ही मान जाये कुछ पल खफा होने के बाद!
Picture SMS 95242
मैं बद-नसीब हूँ मुझ को न दे ख़ुशी इतनी;
कि मैं ख़ुशी को भी ले कर ख़राब कर दूँगा!
~ Abdul Hameed Adam
Picture SMS 95205
Analytics