गज़ब किया जो तेरे वादे पे एतबार किया;
तमाम रात हमने क़यामत का इंतज़ार किया;
न पूछ दिल की हक़ीक़त मगर यह कहतें है;
वो बेक़रार रहे जिसने बेक़रार किया!
~ Daagh Dehlvi
Picture SMS 92988
कहा से सीखें हुनर उसे मानाने का;
कोई जवाज़ न था उस के रूठ जाने का;
हर बात में सजा भी मुझे ही मिलनी थी;
के जुर्म मैंने किया था उनसे दिल लगाने का!
Picture SMS 92926
बहुत मुश्किल से सुलाया था खुद को `फ़राज़` मैंने आज;
अपनी आँखों को तेरे ख्वाब का लालच दे कर!
~ Ahmad Faraz
Picture SMS 92839
देख कैसी क़यामत सी बरपा हुई है आशियानों पर इक़बाल;
जो लहू से तामीर हुए थे, पानी से बह गए!
~ Allama Iqbal
Picture SMS 92801
ऐसी बेरुखी भी देखी है, हम ने आज कल के लोगों में;
आप से तुम तक, तुम से जान तक, जान से अनजान तक हो जाते हैं!
Picture SMS 92756
हसरत भरी निगाहों को आराम तक नहीं,
वो यूँ बदल गये है के अब सलाम तक नहीं!
Picture SMS 92613
वो आये बज़्म में इतना तो मीर ने देखा;
फिर उसके बाद चिरागो में रौशनी ही नहीं रही!
~ Mir Taqi Mir
Picture SMS 92548
तुम मेरे हो ऐसी हम जिद नही करेंगे;
मगर हम तुम्हारे ही रहेंगे ये तो हम हक से कहेंगे!
Picture SMS 92508
न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है;
के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया!
~ Parveen Shakir
Picture SMS 92450
नाराज़गी भी एक खूबसूरत रिश्ता है;
जिससे होती है, वह व्यक्ति दिल और दिमाग, दोनों में रहता है।
Picture SMS 92449
Analytics