जख्म ऐ दिल पर हाथ रखकर मुस्कुराना भी इश्क है;
याद रखना याद करना और याद आना भी इश्क है!
Picture SMS 92612
फिर तेरे कूचे को जाता है ख्याल,
दिल-ऐ-ग़म गुस्ताख़ मगर याद आया;
कोई वीरानी सी वीरानी है,
दश्त को देख के घर याद आया!
~ Mirza Ghalib
Picture SMS 92368
मुद्दत हो गयी इक वादा किया था उन्होने,
कश्मकश में हूँ, याद दिलाऊँ कि इंतज़ार करूँ!
Picture SMS 91037
अगर हो वक़्त तो मुलाकात कीजिये,
दिल कुछ कहना चाहे कुछ बात कीजिये,
यूँ तो मुश्किल है हमसे दूर रहना,
पर एक लम्हा मिले तो हमें याद कीजिये।
Picture SMS 90371
खुद को समेट के खुद मे सीमट जाते है हम;
जब तेरी याद आती है फिर से बिखर जाते है हम!
Picture SMS 90146
कभी रिहा न किया मैने तुझे अपनी यादों की कैद से;
नाकाम ही सही तुझसे बेइंतिहा इश्क किया था मैंने!
Picture SMS 89894
शिद्दत से जिया है हर लम्हें को;
यूँ ही यादें खुबसूरत तो नहीं होती!
Picture SMS 89802
ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा,
मैं खुद तन्हा रहा मगर दिल को तन्हा नहीं रखा,
तुम्हारी चाहतों के फूल तो महफूज़ रखे हैं,
तुम्हारी नफरतों की पीर को ज़िंदा नहीं रखा।
Picture SMS 89593
मेरी यादों से अगर बच निकलो तो, वादा मेरा है तुमसे,
मै खुद दुनिया से कह दूगी की, कमी मेरी वफ़ा में थी!
Picture SMS 87603
कोई आदत, कोई बात, या सिर्फ मेरी खामोशी;
कभी तो, कुछ तो, उसे भी याद आता होगा!
Picture SMS 87495
Analytics