एक मुट्ठी इश्क़ बिखेर दो इस ज़मीन पे;
बारिश का मौसम है शायद मोहब्बत पनप जाए।
Picture SMS 91883
एक मुट्ठी इश्क़ बिखेर दो इस ज़मीन पे;
बारिश का मौसम है शायद मोहब्बत पनप जाए।
Picture SMS 91319
शिकायत क्या करूँ दोनों तरफ ग़म का फसाना है,
मेरे आगे मोहब्बत है तेरे आगे ज़माना है,
पुकारा है तुझे मंजिल ने लेकिन मैं कहाँ जाऊं,
बिछड़ कर तेरी दुनिया से कहाँ मेरा ठिकाना है।
Picture SMS 91114
ऐ दिल मत कर इतनी मोहब्बत तू किसी से,
इश्क़ में मिला दर्द तू सह नहीं पायेगा,
टूट कर बिखर जायेगा एक दिन अपनों के हाथों,
किसने तोड़ा ये भी किसी से कह नहीं पायेगा।
Picture SMS 90860
तुम्हें क्या बताये इश्क़ में मिलता है दर्द क्या;
मरहम भी पिघल जाते हैं ज़ख्म की गहराई देखकर।
Picture SMS 90693
तेरे हुस्न की तपिश, कहीं जला ना दे मुझे;
तू कर मोहब्बत मुझसे, ज़रा आहिस्ता आहिस्ता!
Picture SMS 90412
छुपकर मेरी नज़र से गुज़र जाईये मगर;
बचकर मेरे ख्याल से किधर जाईयेगा!
Picture SMS 90372
ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो;
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है |
Picture SMS 90228
कह के आ गए उनसे कि जी लेंगे तुम्हारी बिन,
उनके जुदा होते ही जान पे बन आई है।
Picture SMS 90213
दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।
Picture SMS 90167
Analytics