सीढियाँ उन्हें मुबारक हो जिन्हें सिर्फ छत तक जाना है;
मेरी मंज़िल तो आसमान है रास्ता मुझे खुद बनाना है।
कर दिया है बेफिक्र तूने फ़िक्र अब मैं कैसे करूँ;
फ़िक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ।
Picture SMS 76117
बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है।
जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते।
हर सपने को अपनी साँसों में रखो;
हर मंज़िल को अपनी बाहों में रखो;
हर जीत आपकी ही है, बस अपने लक्ष्य को अपनी निगाहों में रखो।
सफल होने के लिए, सफलता की इच्छा, असफलता के भय से अधिक होनी चाहिए।
दुनिया विरोध करे तुम ङरो मत, क्योंकि जिस पेङ पर फल लगते हैं दुनिया उसे ही पत्थर मारती है।
Picture SMS 75255
समझदार वह व्यक्ति नहीं जो ईंट का जवाब पत्थर से दे।
समझदार वह है जो फेंकी हुई ईंट से अपना आशियाना बना ले।
Picture SMS 74358
होके मायूस ना यूँ शाम की तरह ढलते रहिये,
ज़िंदगी एक भोर है सूरज की तरह निकलते रहिये,
ठहरोगे एक पाँव पर तो थक जाओगे,
धीरे धीरे ही सही मगर राह पे चलते रहिये।
Picture SMS 71939
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते;
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते;
हासिल उन्हें ही होती है सफलता;
जो वक़्त और हालात पर रोया नहीं करते।
Picture SMS 71881
Analytics