Now a Browser with Free Games, Click Here
तुम गुजार ही लोगे जिंदगी, हर फन में माहिर हो;










पर मुझे तो कुछ भी नहीं आता, तुम्हे चोदने के अलावा!
अब इसमें मेरी कहां गलती है बताओ..










तरबूज़ वाली को बोला फांक थोड़ी चेोड़ी करके दिखाओ... अंदर से लाल है क्या? देखनी है!
फेंक के मारा बहन की लौड़ी ने!
जैसे सुहागन महिला बिना सिंदूर के अधूरी रहती है...
.
.
.
.
.
.
ठीक वैसे ही ट्रेनें बिना गुप्त रोग और वशीकरण के विज्ञापन के बगेर अधूरी हैं!
इस गर्मी में अपने झांटों पर नवरत्न तेल लगाइये और...
अपनी हवस को ठंडक पहुंचाइये!
मेडिकल स्टोर पर एक आदमी कंडोम लेने गया।
₹2000/- एक नोट देकर 10/- वाला पैकेट माँगा।
दुकानदार (पैकेट देते हुए): भाई साहब ये फ्री में ले जाओ... आज भाभी जी को मेरी तरफ से चोद लेना।
जिंदगी से आज तक एक ही चीज सीखी है कि...
.
.
.
.
.
.
.
.
ज्यादा मुठ मारने से कुछ प्राप्त नहीं होता बस लंड छिल जाता है!
लकीर मिट गई हाथों की,
और वो कहती है हम उसे याद नहीं करते!
एक नया गाना आया है मेरी चढ़ती जवानी मांगे पानी रे पानी!
अब ये नहीं समझ आ रहा 'नल का या लंड का'!
लंड जब हवस की चरम सीमा पार कर देता है तो हम उसे...
स्वपनदोष का नाम दे देते हैं!
लोग कहते है कि संसार मे 2 तरह के लोग है काले व गोरे,
मैं तीसरी प्रजाति को भी जानता हूँ उन्हें कहते है बहन के लौड़े!
Analytics