एक दिन पप्पू अपने पिता संता के साथ बाज़ार में घूम रहा था कि तभी अचानक सामने से आती एक लड़की पप्पू को मुस्कुराते हुए हेल्लो बोली और चली गयी।

यह देख संता ने पप्पू से पूछा," कौन थी वो?"

पप्पू घबराते हुए, "जी वो मेरी गर्लफ्रेंड थी।"

अगले दिन फिर जब पप्पू संता के साथ घूम रहा था तो एक दूसरी लड़की उसे मुस्कुराते हुए हेल्लो बोली।

यह देख संता ने फिर पप्पू को घूरा और पूछा," अब यह कौन थी ?"

पप्पू मुस्कुराते हुए, " रिश्ता वही, आईटम नयी।"
एक दिन बंटी अपने दोस्त पप्पू से सलाह लेने गया।

बंटी: यार पप्पू,मैं तुमसे सलाह लेना चाहता हूँ।

पप्पू: ज़रूर लो दोस्त, मुफ्त मिलेगी।

बंटी: बात यह है कि मैं किसी लड़की से प्रेम करता हूँ और वो भी मुझे चाहती है। हम दोनों शादी करना चाहते है।

पप्पू: यह तो अच्छी बात है इसमें दिक्कत क्या है?

बंटी: मेरे पिता जी इस शादी के खिलाफ हैं।

पप्पू: क्यों?

बंटी: क्योंकि वो बहुत ग़रीब है और मेरे पिता जी मेरी शादी किसी विधवा से करना चाहते हैं जो कि बहुत अमीर है।

पप्पू (कुछ सोचने के बाद): देखो दोस्त यह तुम्हारी ज़िन्दगी है। तुम वही करो जिससे तुम खुश रह सको। तुम अपनी प्रेमिका से शादी करने का पक्का फैंसला करो और अपने पिता जी को बता दो। मुझे विश्वास है कि वो तुम्हारी बात को समझ जायेंगे।

बंटी: तुम ठीक कहते हो, मैं आज ही पिता जी से बात करता हूँ।

पप्पू: और हाँ, उस विधवा का पता मुझे बता दो!
Analytics