पोल्ट्री फार्म इंस्पेक्टर ने एक बार शहर के सभी पोल्ट्री फार्म मालिकों को बुलाया.

इंस्पेक्टर ने पहले मालिक से पूछा, "तुम मुर्गियों को क्या खिलाते हो?"

पहला मालिक: बाजरा!

इंस्पेक्टर: खराब खाना! इसे गिरफ्तार कर लो!

अब दूसरे मालिक की बारी आई!

इंस्पेक्टर: मुर्गियों को क्या खिलाते हो?

दूसरा मालिक: चावल सर!

इंस्पेक्टर: गलत खाना! इसे भी गिरफ्तार कर लो!

अब छगन की बारी आई! अब तक वह बहुत ही डर गया था!

इंस्पेक्टर: तुम बताओ, तुम क्या खिलाते हो?

छगन: मैं तो जी मुर्गियों को रोज 10-10 रुपये दे देता हूँ और बोल देता हूँ कि जो मर्जी हो बाजार में जाकर खा लो!
पठान अपने स्कूटर पे जा रहा था, रास्ते में एक आदमी ने लिफ्ट मांग ली।

आगे लाल बत्ती थी पठान ने बड़ी तेजी से स्कूटर निकाल दिया पीछे बैठा आदमी डर गया।

आदमी: पठान जी, लाल बत्ती थी।

पठान: हम पठान है लाल बत्ती पे नहीं रुकते।

फिर लाल बत्ती आई फिर निकाल दिया, आदमी और ज्यादा डर गया।

आदमी: पठान जी मरवाओगे क्या लाल बत्ती थी।

पठान: हम पठान हैं पठान लाल बत्ती पे नहीं रुकते।

आगे हरी बत्ती आई तो पठान ने जोर का ब्रैक मारा और वही रुक गया।

आदमी: पठान जी, अब तो चलो हरी बत्ती है।

पठान: अब्बे मरवाएगा क्या, उधर से कोई पठान आ रहा हुआ तो?
Analytics