एक बार एक फौजी अफसर की शादी हुई तो उसने अपने बटालियन के सभी जवानों को शादी की दावत पर बुलाया।

खाना टेबल पर लगाकर सब जवानों को फौजी अँदाज मे कहा, "मेरे शेरो इस खाने को दुशमन समझकर इसके उपर टूट पड़ो।"

थोड़ी देर में फौजी अफसर क्या देखता है कि एक जाट एक हाथ से लड्डू - जलेबी खा रहा है और एक हाथ से लड्डू - जलेबी जेब मे ठूस रहा है।

अफसर: जवान यह क्या हो रहा है?

जाट: साहब जितने मारने थे उतने मार दिये बाकियों को बंदी बना रहा हूँ।
काम पर से थक हार कर घर आया, सोफे पर बैठ गया। पत्नी ने पानी का गिलास दिया और बच्चे ने मार्कशीट सामने रखी।

हिंदी 44
अंग्रेजी 35
गणित 37

आगे कुछ पढ़ने से पहले... "बेटा ! क्या मार्क है ये ? गधे, शर्म नहीं आती तुझे ? नालायक है तू नालायक..."

पत्नी: अरे आप सुनो तो?

"तू चुप बैठ! तेरे लाड़ प्यार ने ही बिगाड़ा है इसे. नालायक,अरे बाप दिनभर मेहनत करता है और तू ऐसे मार्क लाता है।"

लड़का चुपचाप गर्दन नीचे।

"अरे सुनो... तो!"

"तू चुप कर, एक शब्द भी मत बोल. आज इसको बताता हूँ।"

"अरे!"

पत्नी का आवाज बढ़ गयी, मैं थोडा रुक गया।"

"सुन तो लो जरा!"

"सुबह अलमारी साफ करते समय मिली आपकी ही मार्कशीट है वो..."

भयानक सन्नाटा!
Analytics