एक आदमी एक बार में गया और उसने एक जिन और सोडा मंगवाया उसने इसमें से आधा पिया और बाकि बार वाले के ऊपर गिरा दिया!

बार वाले को काफी गुस्सा आया उसने उस शराबी को कॉलर से पकड़ा और खींच कर उसे अपने सामने लाया और पूछा, तुमने ऐसा क्यों किया?

शराबी ने माफ़ी मांगते हुए कहा मुझे माफ़ कर दीजिये सर मैं माफ़ी मांगता हूँ, मैं इसमें कुछ नहीं कर सकता, ये एक बीमारी है जिससे मुझे छुटकारा नहीं मिल रहा है मैं बहुत शर्मिंदा हूँ! बार वाले ने कहा क्या तुम्हें कोई और नजर नहीं आया इस समस्या के लिए!

शराबी ने कहा मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था की ये मैं आप पर फेकूंगा!

बार वाले ने कहा जाओ अब तब तक मत आना जब तक तुम अपना इलाज न करवा लो और वो शराबी वहां से चला गया!

लगभग तीन महीने बाद वापिस उसी बार मैं आया और जिन और सोडा लाने को कहा, शराबी ने इसे आधा पी लिया और बाकि बार वाले पर फेंक दिया!

बार वाला जोर से चिल्लाया, मुझे याद है मैंने तुम्हें कहा था कि जब तक अपना इलाज न करवा लो तब तक यहाँ नहीं आना!

शराबी ने कहा, मुझे याद है, पर अब मुझे शर्म नहीं आती!
दो शराबी साथ में चले हुए थे, एक शराबी ने कहा, कितनी सुन्दर रात है, जरा चाँद को तो देखो!

दूसरा शराबी रुका और अपने शराबी दोस्त को देखने लगा, अरे तुम गलत बोल रहे हो, ये चाँद नहीं सूरज है!

दोनों आपस में बहस करने लगे, तभी एक और शराबी वहां से जा रहा था उन दोनों ने उसे रोका और कहा सर क्या आप हमारी बहस का हल निकालेंगे, आप हमें बताएं कि जो चीज ऊपर आसमान पर चमक रही है वो क्या है, ये चाँद या सूरज?

तीसरा शराबी आसमान की ओर देखने लगा, फिर उसने उन दोनों की ओर देखा और कहा, जी माफ़ कीजिये, मैं इस शहर में नया हूँ!
Analytics