पत्नी: काश मैं न्यूज़पेपर होती, कम से कम रोज़ तुम अपने हाथों में तो लेते!
पति: मेरी भी इच्छा थी कि तुम न्यूज़पेपर होती, कम से कम रोज़ नयी तो मिलती!
अभी मेरी पड़ोसन ने अपनी बालकॉनी से मुझे 'कमीना' बोली!
कहीं वो 'Come In Na' कह के मुझे बुला तो नहीं रही!
Picture SMS 97700
Picture SMS 97702
क़त्ल न करो, बस मोहब्बत करके छोड़ दो;
किसी दिलजले से पूछ लो, ये भी सज़ा-ए-मौत है!
दर्द कितना खुशनसीब है मिलते ही अपनों की याद दिलाता है;
दौलत कितनी बदनसीब है मिलते ही लोग अपनों को भूल जाते हैं!
शर्मीली बुढिया!
एक बार एक बूढी महिला अपने घर के आँगन मैं बैठी स्वेटर बुन रही थी कि तभी अचानक एक आदमी उसकी आँख बचाते हुए उसकी कुर्सी के नीचे बम रख कर भाग गया।

आदमी को इतनी जल्दी में भागते हुए देख, कुछ लोगों को शक हुआ तो उन्होंने आँगन में झाँक कर देखा तो उनकी नज़र बुढिया की कुर्सी के नीचे रखे बम पर पड़ी।

यह देख कर उन लोगों ने बुढिया को आगाह करने के लिए घर के बाहर से ही चिल्लाना शुरू कर दिया "बुढिया बम है, बुढिया बम है।"

यह शोर-गुल सुन कर बुढिया एक पल के लिए चौंकी और फिर शर्माते हुए बोली, " अरे अब वो बात कहाँ, बम तो मैं जवानी में होती थी।"
दोस्ती की परिभाषा!
लोगों के बहकावे में आकर कछुए और खरगोश में फिर से पाँच मील की दौड़ लग गई!

तीन मील की दूरी पर जा कर खरगोश ने देखा कि कछुआ बहुत दूर है और उसने सामने के ठेके से एक बोतल ली और पीना शुरू कर दिया!

दो या तीन पैग पीने के बाद... उसने सामने से कछुए को आता हुआ देखा और बोला, "ले भाई, आज तू भी ले!"

कछुआ भी बैठ गया और पीते-पीते बोतल खत्म हो गई!

कछुए ने कहा: तुम मेरे इतने अच्छे दोस्त हो, और मैं तुम्हारे साथ दौड़ने की होड़ के लिए लोगों की बातों में आ गया, तुम्हारे साथ क्या हार क्या जीत? चल भाई एक हॉफ और मँगा ले!"

फिर दोनों खुशी-खुशी घर चले गए!

कथासार:अपने दोस्तों के साथ आख़िर किस बात की रेस! हर समय हार-जीत के पीछे ही भागते न रहें, साथ बैठिये, दो पेग लीजिए और देखिए कि ये ज़िन्दगी सच में कितनी ज़्यादा खूबसूरत है!
Panga - Keto Diet Dialogue Promo
Panga - Keto Diet Dialogue Promo
BIRDS OF PREY - Soundtrack Trailer
BIRDS OF PREY - Soundtrack Trailer
Javed Akhtar Birthday Bash
Javed Akhtar Birthday Bash
Love Aaj Kal Trailer Launch
Love Aaj Kal Trailer Launch
Analytics